Best Poems Creative Columns 

माईल स्टोन – Written by Vimmi Malhotra

माईल स्टोन

अक्सर ठिठक जाते हैं कदम
उस मोड़ पर आज भी
जहाँ मंजिल ना थी
थे दो रास्ते
जो एक दूसरे के
बिलकुल विपरीत
दिशा को जाते थे
शायद यहीं तक का
साथ था हमारा
तुम संग




एक दिशा चुनी तुमने
और उस ओर बढ़ते गए
सालों बाद
सब कुछ बदल गया
कितनी हरियाली थी यहाँ
यहीं पर होता था मिलना
हमारा तुम्हारा
सभी रितु में
यहाँ खड़े वृक्ष
हमें देते थे अपनी मीठी छाया
अब तो सब विरान नज़र आता है
ना तुम ना तुम्हारी परछाईं
ना वृक्ष ना छाया
hhng
बस बचा है तो सिर्फ
धूल का गुबार
और उसमें से झांकता
वो माईल स्टोन
जो तब भी यहीं खड़ा था
और आज भी
शायद यही एकमात्र गवाह है
हमारे मिलने और बिछड़ने का
धुंधली आँखों से भी
नज़र आ रहा है
यह माईल स्टोन
दोनों दिशाओं को दर्शाता।



(Visited 40 times, 1 visits today)

Related posts